रायगढ़ : अमृत मिशन का काम लगभग 80 प्रतिशत पूरा; जनवरी तक 26 हजार घरों में पहुंचेगा साफ पानी

“शहर में अमृत मिशन का काम लगभग 80 प्रतिशत पूरा हो चुका है। दिसंबर तक इसे पूरा करने का टार्गेट है, जिसे समय पर पूरा कर लिया जाएगा। जनवरी से हम शहर में अमृत मिशन से पानी की सप्लाई शुरू करा देंगे।”
-अजीत तिग्गा, ईई, नगर निगम

अमृत मिशन का काम लगभग 80 प्रतिशत पूरा हो चुका है। मशीनें और मोटर लगाने का काम चल रहा है। विभाग का दावा है कि जनवरी तक 26 हजार घरों में अमृत मिशन का पानी पहुंचेगा। अमृत मिशन में एक इंटकेवल और पांच टंकियां बनाई जा रही है। इन काम में रायगढ़ प्रदेश के अन्य शहरों से आगे चल रहा है। अमृत मिशन प्रोजेक्ट में 136 करोड़ की लागत से पांच नई पानी टंकियां व 32 एमएलडी का नया फिल्टर प्लांट भी तैयार किया जा रहा है। केलो नदी के किनारे पानी टंकी और इंटकवेल का निर्माण पूरा हो चुका है। अब इसमें पंप और अन्य मशीनें लगाई जा रही है। सब कुछ ठीक रहा तो दिसंबर तक काम करने के बाद कनेक्शनों में पानी सप्लाई भी शुरू हो जाएगी। टंकियां और एमएलडी प्लांट 2050 तक के जनसंख्या की जरूरत के हिसाब से तैयार की जा रही है। इंजीनियरों के अनुसार 2050 तक लोगों को पानी के लिए समस्या नहीं होगी। वर्तमान में जल आवर्धन योजना की लगभग 14 टंकियों से पूरे शहर के 38 वार्डों में पानी की सप्लाई की जा रही है। नए प्रोजेक्ट में पूरे 48 वार्ड को कवर किया जाएगा।

सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के काम ने भी पकड़ी रफ्तार
शहर के गंदे नालों से आने वाले पानी को ट्रीटमेंट कर उसे वापस नदी में छोड़ने के लिए तैयार किए जा रहे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट की प्रोग्रेस भी काफी बेहतर है। कुछ समय तक जमीन विवाद और ठेकेदार के उदासीन रवैये के कारण काम ढीला पड़ गया था, लेकिन अब 40 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। इसी तरह शहर के उन नालों को चिह्नांकित भी किया जा चुका है। जहां हर बार बारिश के दौरान पानी जमा होता है। इन जगहों पर ही पंप लगाकर गंदे पानी को खींचकर उसे ट्रींटमेंट प्लांट तक पहुंचाया जाएगा।

Leave a Reply