रायगढ़ : बेहतर शिक्षा के लिए सभी जिलों में संचालित हो रहे स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल : मंत्री डॉ.प्रेमसाय सिंह टेकाम

वृक्षारोपण में वनोपज आधारित फलदार वृक्षों को दें प्राथमिकता

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम ने ली विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक

रायगढ़, 1 मई 2022

आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक विकास, स्कूल शिक्षा तथा सहकारिता एवं जिले के प्रभारी मंत्री डॉ.प्रेमसाय सिंह टेकाम कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिले में संचालित विभागीय कार्यों के संबंध में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। इस दौरान उन्होंने जिले में संचालित हो रहे स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि यह शासन की महत्वपूर्ण योजना है एवं लोगों द्वारा इसका बेहतर रूझान मिल रहा है। पालकों की मांग को देखते हुए मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा आगामी दिनों में जरूरत के अनुसार स्कूलों की संख्या में वृद्धि की जाएगी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन बच्चों के भविष्य को लेकर शिक्षा की गुणवत्ता में किसी प्रकार की समझौता नहीं करेगी।

इस दौरान धरमजयगढ़ विधायक श्री लालजीत सिंह राठिया, रायगढ़ विधायक श्री प्रकाश नायक, सारंगढ़ विधायक श्रीमती उत्तरी गनपत जांगड़े, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री निराकार पटेल, कलेक्टर श्री भीम सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक मीणा, सीईओ जिला पंचायत डॉ.रवि मित्तल सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम ने गोधन न्याय योजना एवं अजीविका संवर्धन की जानकारी ली। कलेक्टर श्री भीम सिंह ने बताया कि गोधन योजना में जिले में बेहतर कार्य किया गया है। कन्वर्जन रेशियों एवं वर्मी कम्पोस्ट की ब्रिकी के मामले में जिले का उत्कृष्ट प्रदर्शन है। जिले में विभागीय अधिकारियों द्वारा पैरा कलेक्शन का कार्य भी अच्छा किया गया है। जिससे जिले के सभी गोठानों में पशुओं के लिए पर्याप्त चारा उपलब्ध है। इसके  अलावा रीपा के तहत जिले के 55 गोठानों को तैयार किया जा रहा है। जहां प्रत्येक गोठानों में 5 एक्टीविटी के साथ समूह द्वारा प्रोसेसिंग यूनिट का संचालन किया जाएगा। कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि गोठानों मे विशेष समूह की पारंम्परिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए गोठानों में स्थान प्रदान करने के साथ ही प्रोसेसिंग यूनिट प्रदान किया जा रहा है। गोठानों में समूह द्वारा सामुदायिक बाडिय़ों का संचालन किया जा रहा है। जिले में समूह द्वारा फ्लाईऐश एवं गोधन न्याय योजना के अन्तर्गत पैकेट प्रिंटिगका कार्य स्व-सहायता समूह द्वारा किया जा रहा है। जिससे समूह को अच्छा लाभांश प्राप्त हो रहा है।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम ने नरवा विकास की जानकारी ली। जिस पर विभागीय अधिकारी ने बताया कि 2020-21 के कार्य पूर्ण हो चुके है साथ ही 2021-22 में 90 प्रतिशत कार्य पूर्ण किए जा चुके है। जिले के प्रभारी मंत्री डॉ.टेकाम ने जिले में कुपोषण की समीक्षा की। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि पूर्व से 21 हजार बच्चो को कुपोषण से बाहर निकाला जा चुका है। वर्तमान में जिले में 6 हजार बच्चे बचे है जिसके लिए गर्म भोजन, रागी लड्डू प्रदान किया जा रहा है। जिस पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम ने प्रशंसा करते हुए कहा कि जिले में कलेक्टर श्री सिंह ने निर्देशन सुपोषण की दिशा में बेहतर कार्य किया गया है। इस दौरान उन्होंने वृक्षारोपण की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिया कि वृक्षारोपण के लिए वनोपज आधारित वृक्षारोपण के लिए प्रोत्साहित किया जाये। जिससे ग्रामीणों को वृक्षारोपण से लाभ हो सके एवं स्वयं भी वृक्षारोपण के लिए प्रोत्साहित हो सके। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम ने बाड़ी विकास कार्यक्रम की जानकारी ली। विभागीय अधिकारी ने बताया कि जिले में 230 बाडिय़ां बनाया जा चुका है।

राजस्व मामलों को लेकर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम ने कहा कि बंटवारा, सीमांकन जैसे मामलों के कार्य प्राथमिकता से किया जाए। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि राजस्व मामलों के निराकरण के लिए राजस्व शिविर लगाकर आवेदन लिए जा रहे है। जिसका एक माह के अंदर निराकरण किया जाएगा। नजूल पट्टों का फ्री होल्ड में अधिकारियों द्वारा अच्छा कार्य किया गया है। आबादी पट्टो का वितरण, राजीव गांधी आश्रय योजना अन्तर्गत स्लम पट्टा वितरण पर कार्य किया जायेगा।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम ने कहा कि वर्मी कम्पोस्ट का प्रचार-प्रसार करने के साथ सभी सोसाइटियों में वर्मी कम्पोस्ट एवं रसायनिक खाद उपलब्ध कराएं। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.टेकाम ने जिले की सड़कों की समीक्षा करते हुए यातायात सुगम बनाने हेतु सड़कों के निर्माण कार्यो में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने एफआरए से लाभान्वित हितग्राहियों को वृक्षारोपण के लिए प्रोत्साहित करने के साथ पानी की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रीष्म ऋतु के मद्देनजर पेयजल व्यवस्था की जानकारी ली एवं जहां पेयजल संकट की स्थिति निर्मित हो रही है, उसका तत्काल निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि पेयजल संकट की समस्या के निराकरण के लिए जिला स्तरीय समिति गठित किया गया है। इसके अलावा ब्लाक स्तर पर रजिस्टर रखा गया है। इसके साथ ही उन्होंने जलजीवन मिशन की अद्यतन जानकारी ली। प्रभारी मंत्री डॉ.टेकाम ने सी-मार्ट के संबंध में जानकारी ली। कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि सी-मार्ट की स्थापना की जा चुकी है। जिसमें ब्लाक स्तर के सभी वस्तुओं को विक्रय के लिए रखा जा रहा है। इसके साथ ही लैलंूगा के जवाफूल को अन्य जिलों के सी-मार्ट में ब्रिकी के लिए भेजा जा रहा है।

Leave a Reply