अधिक दाम में बेच रहे थे खाद, 3 दुकानें सील

कलेक्टर रजत बंसल के निर्देश पर कृषि विभाग द्वारा खाद दुकानों में लगातार छापेमारी की कार्रवाई जारी है। जिसके तहत आज विकासखंड बिलाईगढ़ अंतर्गत भटगांव नगर के तीन खाद दुकान सील किए गए। भटगांव क्षेत्र से उर्वरक अधिक दर पर विक्रय करने के शिकायत प्राप्त हो रही थी। जिसके जांच हेतु स्थानीय उर्वरक निरीक्षक के उपस्थिति में जिला स्तरीय निरीक्षण दल द्वारा छापेमारी की कारवाई की गई। भटगांव के स्थानीय कृषकों से संपर्क करने के पश्चात बयान प्राप्त कर मेसर्स प्रमोद कृषि केंद्र भटगांव का निरीक्षण किया गया निरीक्षण में विक्रेता द्वारा अधिक दर पर उर्वरक विक्रय करने के साथ साथ कृषकों को बिल नहीं दिया जाना भी पाया गया। जो की उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 के खंड 3(3) तथा 5 का स्पष्ट उलंघन है। इसी प्रकार मेसर्स राहुल हार्डवेयर,भटगांव एंव मेसर्स पुष्पराज केशरवानी में निरीक्षण के दौरान निर्धारित प्रपत्र में बिल बुक (फॉर्म एम) संधारित किया जाना नहीं पाया गया जोकि उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 के खंड 5 का स्पष्ट उल्लंघन है। जिस पर तत्काल कार्रवाई करते हुए तीनों विक्रय केंद्रों को सील कर तीन दिवस के भीतर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने हेतु कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। जवाब प्राप्त होने के पश्चात आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इस प्रकार पूर्व में भी छापेमारी के दौरान विकासखंड बलौदाबाजार के मेसर्स महादेव एंड खाद, लाहोद तथा मेसर्स न्यू किसान ट्रेडर्स, अर्जुनी के द्वारा भी निर्धारित मूल्य से अधिक दर पर उर्वरक विक्रय किया जाना पाया जाने पर गोदाम सील कर उर्वरक प्राधिकार पत्र निलंबित किया गया। विकासखंड भाटापारा में ग्राम बोरसी में यदुनंदन कृषि सेवा केंद्र द्वारा केसीसी के माध्यम से प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति, से उर्वरक प्राप्त कर अपने निजी विक्रय केंद्र से अधिक दर पर कृषकों को खाद विक्रय किया जाना पाया गया था। जिस पर तत्काल कार्रवाई करते हुए मौके पर उपलब्ध 50 बोरी उर्वरक जप्त कर नोटिस किया गया है। ग्राम करही बाजार में महामाया कृषि केंद्र द्वारा भी उर्वरक निर्धारित मूल्य से अधिक दर पर विक्रय करने के कारण गोदाम सील कर कारण बताओ नोटिस की जारी किया गया है। जवाब प्राप्ति पश्चात अग्रिम कार्रवाई की जाएगी ।

कृषि विभाग द्वारा जमाखोरी एवं कालाबाजरी को रोकने के उद्देश्य से नियमित रूप से निरीक्षण एवं छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है । तथा विक्रेताओं को नियमानुसार ही उर्वरक विक्रय करने हेतु चेतावनी भी दी जा रही है। निरीक्षण दल में सहायक संचालक सतराम पैकरा,एस. डी.ओ. जय इंद्र कंवर,उर्वरक निरीक्षक एल. पी. देवांगन, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी सीमांचल गौड़ शामिल थे l

Leave a Reply